Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana (PMFBY) 2024 | What is covered under PMFBY?

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana (PMFBY) भारत सरकार द्वारा शुरू की गई एक फसल बीमा योजना है। यह किसानों की मदद तब करती है जब उनकी फसलें बाढ़, कीट या बीमारियों जैसी चीजों से क्षतिग्रस्त हो जाती हैं। इस योजना का उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि किसानों के पास फसलों के साथ बुरी चीजें होने पर भी पैसा हो। यह किसानों को खेती के नए और बेहतर तरीकों का उपयोग करने के लिए भी प्रोत्साहित करना चाहता है।

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने 13 जनवरी, 2016 को Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana 2024 की शुरुआत की। इसने पुरानी फसल बीमा योजनाओं की जगह ली। PM Fasal Bima Yojana बहुत कुछ कवर करता है और इसकी लागत ज्यादा नहीं होती। यह पूरे भारत के किसानों के लिए उपयोग को आसान बनाता है और उनकी बहुत मदद करता है।

Fasal Bima Yojana क्या है?

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana सरकार द्वारा एक फसल बीमा योजना है। यह फसल विफलता के समय किसानों की रक्षा में मदद करती है। अगर बाढ़, कीट या बीमारियां फसलों को नुकसान पहुंचाती हैं, तो यह योजना किसानों को पैसा देती है। इस तरह, किसान बुरी चीजें होने पर भी फसलें उगाते रह सकते हैं।

PMFBY में, किसानों को बीमा की लागत का केवल एक छोटा हिस्सा देना होता है। शेष हिस्सा केंद्र और राज्य सरकारें देती हैं। यह गरीब किसानों सहित अधिक किसानों के लिए फसल बीमा पाना आसान बनाता है।

Yojana के बारे में संक्षिप्त जानकारी

पहलूविवरण
लॉन्च की तारीख18 फरवरी 2016
उद्देश्यआश्चर्यजनक घटनाओं से फसलों को होने वाले नुकसान पर किसानों को पैसा देना
प्रीमियम दरेंखरीफ फसलें: 2%, रबी फसलें: 1.5%, वाणिज्यिक/बागवानी फसलें: 5%
बीमा राशिफसल उगाने की लागत का 90% तक देता है

(PMFBY) 2024 का उपयोग कौन कर सकता है?

  • कुछ क्षेत्रों में विशेष फसलें उगाने वाले किसान Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana का उपयोग कर सकते हैं। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि उनके पास कितनी भूमि है या यह उनकी अपनी है या नहीं। यह छोटे खेतों वाले किसानों सहित सभी किसानों की मदद करता है।
  • इन फसलों के लिए ऋण लेने वाले किसानों को इस योजना का उपयोग करना आवश्यक है। लेकिन अपना पैसा लगाने वाले किसान चुन सकते हैं कि वे इसका उपयोग करना चाहते हैं या नहीं। यह किसानों को यह चुनने देता है कि उन्हें कितनी सुरक्षा की जरूरत है।

कैसे लॉगिन करें?

अपने Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana खाते का उपयोग करने के लिए, किसानों को PMFBY वेबसाइट पर लॉग इन करना होता है। लॉग इन करने के लिए, वे अपना फोन नंबर डालते हैं और एक विशेष पासवर्ड मांगते हैं। यह पासवर्ड एक टेक्स्ट संदेश में उनके फोन पर आता है। वे अपने निजी पेज पर पहुंचने के लिए इस पासवर्ड को वेबसाइट पर डालते हैं।

लॉगिन करने के बाद, किसान अपने फसल बीमा के बारे में बहुत सी चीजें देख सकते हैं। वे अपनी योजना का विवरण देख सकते हैं, यह देख सकते हैं कि उनका दावा आगे बढ़ रहा है या नहीं, और PMFBY योजना के बारे में महत्वपूर्ण समाचार या बदलाव जान सकते हैं। लॉगिन करने से किसानों को ऑनलाइन आसानी और सुरक्षा से अपने फसल बीमा का प्रबंधन करने में मदद मिलती है।

फसल बीमा के लिए कैसे आवेदन करें?

  1. आवेदन शुरू करने के लिए, किसानों को https://pmfby.gov.in/ पर आधिकारिक PMFBY वेबसाइट पर जाना चाहिए। मुख्य पृष्ठ से, सही जगह खोजने के लिए “किसान कॉर्नर” टैब पर क्लिक करें।
  2. किसान कॉर्नर में, “फसल बीमा” विकल्प खोजें और उस पर क्लिक करें। यह आपको भरने के लिए आवश्यक फॉर्म पर ले जाएगा। सुनिश्चित करें कि आप सही जानकारी दर्ज करें।
  3. फॉर्म को पूरा करने के लिए, किसानों को कुछ दस्तावेज देने होंगे। इनमें आमतौर पर भूमि के स्वामित्व के प्रमाण पत्र, दावा राशि प्राप्त करने के लिए उनके बैंक खाते का विवरण, और एक पहचान पत्र शामिल होते हैं। सुनिश्चित करें कि ये दस्तावेज स्कैन किए गए और अपलोड करने के लिए तैयार हैं।
  4. फॉर्म भरने और दस्तावेज संलग्न करने के बाद, किसानों को अपनी फसल बीमा योजना का प्रीमियम भुगतान करना होता है। PMFBY वेबसाइट किसानों को अपने बैंक खाते का उपयोग करके सुरक्षित रूप से ऑनलाइन भुगतान करने की अनुमति देती है।
  5. अंत में, फॉर्म जमा करने और भुगतान करने के बाद, किसानों को एक संदेश प्राप्त होगा। इस संदेश में एक विशेष पॉलिसी नंबर होगा। यह नंबर बाद में PMFBY योजना के बारे में बात करने और दावे करने के लिए महत्वपूर्ण है। किसानों को इस पॉलिसी नंबर को सुरक्षित और आसानी से मिलने वाली जगह रखना चाहिए।

PM Fasal Bima Yojana

  • Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana किसानों को सुरक्षित रखने में मदद करता है। यह बाढ़, कीट और बीमारियों जैसी बुरी चीजों से उनकी फसलों की रक्षा करता है। ऐसा करके, यह योजना किसानों को कम चिंता के साथ पैसा कमाने और खेती करते रहने में मदद करती है।
  • PM Fasal Bima Yojana सिर्फ पैसा देने से ज्यादा करता है। यह किसानों को खेती के नए और बेहतर तरीके अपनाने में भी मदद करता है। क्योंकि यह योजना फसल विफलता के समय मदद करती है, किसान भविष्य में अधिक उपज और अधिक कमाई के लिए नई चीजों की कोशिश कर सकते हैं।

Fasal Bima Yojana के लाभ

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana के सबसे अच्छे पहलुओं में से एक यह है कि यह अधिक खर्चीला नहीं है। किसानों को केवल कुल राशि का एक छोटा हिस्सा, 1.5% से 5% तक देना होता है। यह फसल के प्रकार और साल के समय के आधार पर बदलता है। यह योजना कई फसलों को कवर करती है और कई खतरों से सुरक्षा प्रदान करती है।

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana दावों का भुगतान जल्दी करने के लिए भी कड़ी मेहनत करता है। दावा प्रक्रिया को आसान बनाकर और तकनीक का उपयोग करके, यह योजना फसल खोने वाले किसानों को जल्दी से पैसा देना चाहती है। यह तेजी से मदद बहुत महत्वपूर्ण है। यह किसानों को फिर से खड़ा होने, अपनी नौकरी बनाए रखने और बिना ज्यादा परेशानी के खेती जारी रखने में सहायता करता है।

Fasal Bima Yojana के लिए जरूरी दस्तावेज

  • आसानी से शामिल होने के लिए, किसानों को यह दिखाना होगा कि वे भूमि के मालिक हैं या उसे किराए पर लेते हैं। वे संपत्ति के शीर्षक या किराए के समझौते जैसे कागजात का उपयोग कर सकते हैं। ये कागजात साबित करते हैं कि किसान उस भूमि से जुड़ा हुआ है जिसका वह बीमा कराना चाहता है।
  • दावे और सरकार से मिलने वाला पैसा सीधे बैंक में भेजा जाता है। इसलिए किसानों को सही बैंक खाते का विवरण देना होता है। इसका मतलब है खाते पर नाम, खाता संख्या, विशेष बैंक कोड और बैंक का नाम।
  • Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana के लिए किसानों को अपना आधार कार्ड देना जरूरी है। यह उनकी पहचान की जांच के लिए है। आधार कार्ड किसान के नाम और विवरण को उनके बीमे से जोड़ता है।
  • किसानों को यह बताने वाला एक कागज भी देना होगा कि उन्होंने क्या बोया है। यह कागज यह तय करने में मदद करता है कि उन्हें किस तरह का बीमा चाहिए और उनकी उगाई गई फसलों के लिए कितना खर्च आएगा।
  • आधार कार्ड के साथ, किसानों को एक और पहचान पत्र दिखाना होगा। यह वोटर आईडी कार्ड, पासपोर्ट या ड्राइविंग लाइसेंस हो सकता है। यह सुनिश्चित करने में मदद करता है कि किसान वही है जो वह कहता है और जानकारी सही है।

PMFBY के FAQs

PMFBY के साथ आप अधिकतम बीमा ले सकते हैं?

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana के साथ आप अधिकतम कितना बीमा ले सकते हैं, यह हर फसल के लिए वित्त के पैमाने पर निर्भर करता है। एक समूह हर क्षेत्र के लिए इस वित्त के पैमाने का निर्णय लेता है। वे फसल उगाने की लागत, आमतौर पर कितनी फसल मिलती है और फसल कितने में बिकती है, जैसी चीजों को देखते हैं। किसान वित्त के पैमाने पर पूरी राशि तक अपनी फसलों का बीमा करा सकते हैं। यह सुनिश्चित करता है कि अगर कुछ बुरा हो जाए तो वे पूरी तरह से सुरक्षित हैं।

PMFBY के तहत किसान अपनी फसलों को हुए नुकसान की सूचना कैसे दे सकते हैं?

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana किसानों को फसल के नुकसान की सूचना देने के कई आसान तरीके देता है। PMFBY मोबाइल ऐप का इस्तेमाल करना आसान है। किसान जल्दी से सही लोगों को बता सकते हैं अगर उनकी बीमा की गई फसलें खराब हो गई हैं। या फिर, किसान नुकसान की सूचना देने के लिए खुद निकटतम कृषि कार्यालय जा सकते हैं। किसान फसल के नुकसान की सूचना देने में मदद के लिए उस बीमा कंपनी को भी कॉल कर सकते हैं जिसके साथ उन्होंने साइन अप किया है।

PMFBY के तहत सरकार बीमा के भुगतान में कितनी मदद करेगी, इस पर कोई सीमा है क्या?

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana की एक अच्छी बात यह है कि सरकार कितनी मदद करेगी, इस पर कोई सीमा नहीं है। यह योजना फसलों के जोखिम के आधार पर बीमा की लागत तय करती है। किसानों को इसका एक छोटा हिस्सा, 1.5% से 5% तक देना होता है। यह फसल और मौसम पर निर्भर करता है। बाकी हिस्सा सरकार देती है, चाहे वह कितना भी हो। यह सुनिश्चित करता है कि पूरे देश के किसान बीमा का खर्च उठा सकें।

Also Read:- PM Kusum Solar Subsidy Yojana

निष्कर्ष

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana किसानों के लिए एक बड़ी मदद बन गई है। यह उन्हें पैसा देती है अगर उनकी फसलों के साथ कुछ बुरा होता है। यह योजना अच्छा कवरेज देती है और इसका खर्च ज्यादा नहीं होता। इसका मतलब है कि हर तरह के किसान फसल बीमा ले सकते हैं। इसके अलावा, यह योजना फसलें खराब होने पर किसानों को जल्दी पैसा देने की कोशिश करती है। यह किसानों को फिर से खड़ा होने और खेती जारी रखने में मदद करता है।

जैसे-जैसे देश खेती को बेहतर और आसान बनाने की दिशा में काम कर रहा है, Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana किसानों को सुरक्षित रखने और उन्हें सुरक्षा का एहसास कराने में एक बड़ी भूमिका निभा रहा है। किसानों को इस योजना के लिए जरूर साइन अप करना चाहिए। यह उनकी फसलों की रक्षा करेगा और प्रकृति के सहयोग न करने पर भी उनके भविष्य को अधिक निश्चित बनाएगा। PMFBY के साथ, किसान यह जानते हुए अधिक भरोसे से अपनी जमीन पर काम कर सकते हैं कि अगर हालात कठिन हो जाएं तो उन्हें सहायता मिलेगी।

Leave a Comment